Thursday, April 29, 2010

MY PARENTS

मेरे ईश्वर ....


एक अनछुआ अहसास ,
जब अपनों के पास आ जाये ,
तो क्या बात  है ||
 
जिन्होंने हमें चलना सिखाया ,
उनकी लाठी बन पायें ,
तो क्या बात है ||


जिन्होंने हमे सपने दिखाए ,
उन्हें सुकून की नींद दे पायें ,
तो क्या बात है ||


हर जरुरत को जिन्होंने पूरा किया ,
उनकी जरुरत में काम आ सकें ,
तो क्या बात है ||


जिन्होंने पल पल हमपे कुर्बान किया ,
उनकी खुशियों की नीव बन पायें ,
तो क्या बात है ||


जिनकी गोद में दुनियाँ का सुख पाया ,
उनकी गोद में जहाँ की खुशियाँ दे पायें ,
तो क्या बात है ||


भीड़ में खोये हैं हम भी तुम भी ,
इस भीड़ में अपने माता पिता की ,
हर आवाज सुन सकें  ,
तो क्या बात है ||
                    श्रीकुमार गुप्ता 

14 comments:

  1. जिन्होंने पल पल हमपे कुर्बान किया ,
    उनकी खुशियों की नीव बन पायें ,
    तो क्या बात है ||
    जिनकी गोद में दुनियाँ का सुख पाया ,
    उनकी गोद में जहाँ की खुशियाँ दे पायें ,
    तो क्या बात है ||
    दिल को छू गयी हर एक पंक्तियाँ! बहुत सुन्दर भाव और अभिव्यक्ति के साथ आपने लाजवाब रचना लिखा है और आपकी लेखनी की जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है!

    ReplyDelete
  2. जिनकी गोद में दुनियाँ का सुख पाया ,
    उनकी गोद में जहाँ की खुशियाँ दे पायें ,
    तो क्या बात है ||

    भीड़ में खोये हैं हम भी तुम भी ,
    इस भीड़ में अपने माता पिता की ,
    हर आवाज सुन सके ,
    तो क्या बात है ||
    aj ke samja ke khaskar yuvaon ke liye ek sandeshparak rachna.

    ReplyDelete
  3. सुन्दर बातें बहुत अच्छी, भाव बेहतरीन

    ReplyDelete
  4. आप मेरे 100वे समर्थक हैं

    ReplyDelete
  5. Har yuva istarahse soche to kya baat hai...kaash!

    ReplyDelete
  6. aaj 21st sencutary main koi aisea soche to kya baat kya baat kya baat .......

    ReplyDelete
  7. sahi hain...mata pita ko ishwar bht kam log maan paate hain...hum nhi sun na chahte na jaane kyon unhe jinhone hume is dharti par bheja.....sab kuchh sikhaya...bolna chlna..sab kuchh..aur aaj hum unhe hi anguthaa dikha chhidha rahe hain...

    ReplyDelete
  8. आपकी ये रचना मन को छू गयी....

    हर इंसान ये सोचे तो क्या बात है....

    ReplyDelete
  9. aap ke is kya bat hai ko pnkh lg jaye to kya bat hai.
    aise nek khyalat aage bhi pdhna chahungi
    mere blog pr aane ke liye dhnyvad.

    ReplyDelete
  10. bahut hi gahan bhav bhare hain..........dil koo chhoo gayi.

    ReplyDelete
  11. वाह.......".क्या बात है ....!!"

    ReplyDelete
  12. jinhone yeh jindagi di,jeene ka hoslaa diya.
    woh sab kuch diya,jiski hame chah thi.
    utaar na sakenge woh karz,chahe le sau janam.
    karke unke charno ko naman,aaj le hum yeh
    pran.unke khushiyon ke liye hi yeh jeevan
    to kya baat hain.

    ReplyDelete
  13. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  14. भीड़ में खोये हैं हम भी तुम भी ,
    इस भीड़ में अपने माता पिता की ,
    हर आवाज सुन सकें ,
    तो क्या बात है |

    Very very Heart-touching lines..........Very nice

    ReplyDelete